आज 31 मई विश्व तंबाकू निषेध दिवस हैं इसे पहली बार 7 अप्रैल 1988 को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की वर्षगांठ दिवस पर मनाया गया था लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन के 42.19 प्रस्ताव 1988 में पास होने के बाद इसे हर साल 31 मई को मनाया जाने लगा।

विश्व तंबाकू निषेध दिवस क्यों मनाया जाता है ?

विश्व तंबाकू निषेध दिवस लोगों को तंबाकू और धुम्रपान से छुटकारा दिलाने के प्रयत्न को लेकर मनाया जाता है आपलोगों को पता होना चाहिए कि तंबाकू हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना नुकसानदायक है।

तंबाकू में पाये जाने वाले निकोटीन हमारे शरीर के लिए काफी घातक सिद्ध होता है इससे हमारे शरीर में कैंसर, ह्रदयरोग जैसी भयंकर बीमारी उत्पन्न होता हैं।

इन भयंकर बीमारी से निजात दिलाने के लिए लोगों में धुम्रपान के खिलाफ जागरूकता को लेकर हर वर्ष 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाया जाता है

विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर हालिया रिपोर्ट क्या कहता है 

हालिया रिपोर्ट के अनुसार आज पूरे विश्व में करीब 2.5 करोड़ लोग कैंसर के मरीज हैं और यह आँकड़ा 3 करोड़ के करीब होने को है। और भारत में हर साल 10 लाख कैंसर के नए मरीज मिल रहे हैं और इनमें ज्यादातर युवा वर्ग के लोग है।

अगर तंबाकू से मरने वालों का आंकड़ा देखा जाय तो पूरे विश्व में हर साल 50 लाख लोग तंबाकू सेवन से मर रहे है वहीं भारत में इसकी आँकड़ों को देखा जाय तो हर साल 17 लाख लोग तंबाकू इस्तेेमाल से मर रहे हैं।

यह भी पढ़े: Drugs(ड्रग्स) जो एक नई पीढ़ी को खोखला बनाने वाला जहर हैं। कैसे इस लत से छुटकारा पाये 

रिपोर्ट के अनुसार भारत में पूरे दुनिया का 10 फिसदी लोग धुम्रपान करते हैं लेकिन यह आंकड़ा धीरे-धीरे बढ़ रहा है

विशेष तथ्य

तंबाकू निर्यात में ब्राजील, चीन, अमेरिका, मलावी और इटली के बाद भारत का स्थान आता है

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार दुनिया में लगभग 125 देश तंबाकू का उत्पादन करते हैं

विश्व तंबाकू निषेध दिवस 2021 थीम 

विश्व स्वास्थ्य संगठन के द्वारा हर वर्ष विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर एक विशेष थीम जारी किया जाता हैं ताकि लोगों में धुम्रपान के खिलाफ जागरूकता चलाया जा सके। लोगों को धुम्रपान से बचाया जा सके।

इस साल का विशेष थीम ‘छोड़ने के लिए प्रतिबद्ध’ हैं। विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर होने वाले कार्यक्रम इसी थीम पर अधारित होते हैं।

यह भी पढ़े:

World No Tobacco Day 2021: जानें क्यों मनाया जाता है ‘विश्व तंबाकू निषेध दिवस’, कैसे हुई इसकी शुरुआत

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here