90 लाख की आबादी वाला इजराइल देश दुनिया के सबसे शक्तिशाली देशों में से एक है। अगर शक्तिशाली देशों में रैंकिंग की बात करें तो इसका नंबर 18वाँ स्थान पर आता हैं।

13 खाड़ी देशों से घिरा होने के बाद भी यह छोटा सा देश आखिर अपने दुश्मनों से क्यूँ खौंफ नही खाता है आखिर क्या है इजराइल के पास जो यहाँ रहने वाले लोगों में हिम्मत पैदा करता है।

इन्हीं सब बातों को आज हम बताएँगे अपने शब्दों के माध्यम से तो आइयें जानते हैं इजराइल के उन हथ्यार को इजराइल को फौलाद बनाता हैं

1. इजराइल का रक्षा बजट

इजराइल की शक्तिशाली होने का सबसे बड़ा कारण यहाँ के रक्षा बजट पर ज्यादा खर्च। इजराइल अपने रक्षा बजट पर काफी पैसा खर्च करता है। 2018 में इजराइल ने अपने देश में 21.6बिलियन डॉलर रक्षा बजट पर खर्च किया था जो उसके जीडीपी का 6 फीसद था।

वहीं भारत का रक्षा बजट 45अरब$ है जो करीब 2.95लाख करोड़ होता हैं। जो जीडीपी का 2.5 फीसद हैं।अगर सैन्य खर्च मामले में भारत की स्थान की बात करे तो पूरे दुनिया में 5वाँ स्थान आता हैं वहीं इजराइल का स्थान 15वाँ आता है।

2. इजराइल की सेना

इजराइल की सेना दुनिया की सबसे चौथी बड़ी सेना है अगर वायुसेेना की बात करें तो अमेरिका, रूस, चाइना के बाद इजराइल के पास दुनिया की चौथे बड़ी वायुसेना हैैं। इजराइल के पास F-16, F-35, F-250 फाइटर प्लेन है जो होने वाले किसी भी हमले को रोकने में सक्षम है।

इजराइल की वायु सेना की बात करें तो यह दुनिया के सभी अत्याधुनिक सिस्टम से लैस है जो इसे काफी मजबूती प्रदान करता हैं। यहाँ पढ़ने वाले हर छात्र को 18 साल के बाद सेना की ट्रेनिंग दी जाती हैं चाहे लड़की हो या लड़का। और 3 साल तक सेना में काम करने का प्रावधान है। यहाँ की पुलिस को भी विशेष ट्रेनिंग दिया जाता हैं।

3. इजराइल के एंटी बैलेस्टिक मिसाईल सिस्टम

इजराइल दुनिया का पहला ऐसा देश है जो अपने सीमा को चारों तरफ से एंटी बैलेस्टिक मिसाइल से घेरे हुआ है यानी अगर कोई भी दुश्मन देश अगर रॉकेट छोड़ता है तो इजरायल उसे आसमान में ही मार गिरायेगा।

इजराइल ने कई बैलेस्टिक मिसाइल बनाई है जिसमें सबसे घातक बैलेस्टिक मिसाइल एडवांस A3 है जो दुश्मन की मिसाइल को रास्ते में ही खत्म कर देती हैं।

इस मिसाइल को अमेरिका के एमआईएम 104 पैट्रियेट MBM सिस्टम की तुलना में अधिक प्रभावी बनाने के लिए विकसीत किया गया हैं।

इजराइल के पास ग्रीन फाईन रडार सिस्टम है जो इसके सीमा से लगभग 400km की दुरी को ट्रैक करता है और सूचना देता हैं। इजराइल के पास सबसे ऊँचाई पर लड़ाई करने वाला interceptor system है। यहाँ के विशेषज्ञ मानते हैं की Aero-3 को ऐंटी सैटेलाईट के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

4. Technology में दक्षता

इजराइल Technology में भी बहुत आगे है। यह दुनिया के उन 9 देशों में शामिल हैं जिनके पास अपना सैटेलाइट सिस्टम है ये अपना सैटेलाइट सिस्टम किसी भी देश से साझा नही करता और अपने सैटेलाइट का उपयोग जासूसी में ज्यादा इस्तेमाल करता है।

2019 में चंद्रमा पर अपना सैटेलाइट भेज इजराइल दुनिया के नजरों में आया लेकिन रौकेट का सफल लैंडिंग नही हो पाया। अमेरिका के सिलिकन वैली के बाद पूरे दुनिया में इजराइल में 3500 से ज्यादा टेक्निकल कंपनिया स्थित है। जो अपने आप में इजराइल की सुरक्षा को दर्शाता हैं।

पहला मोबाइल मोटोरोला, पहला antivirus, पहला anti voice mail सबसे पहले इजराइल ने ही बनाया। माइक्रोसॉफ्ट, सिस्को जैसी दिग्गज कंपनियां अमेरिका से बाहर पहली बार रिसर्च सेंटर इजराइल में ही खोला।

5. इजराइल का क्रूज मिसाइल

यह मध्य श्रेणी का सबसे हल्का और लंबी दूरी पर मार करने वाली मिसाइल है इसकी मारक क्षमता 250 किलोमीटर है यह इतना छोटा  है कि इसे F-16 और F-15 फाइटर प्लेन के जरिए भी लॉन्च किया जा सकता है।

इस मिसाइल की खासियत यह है कि किसी भी चलते वाहन पर बड़ी सटीकता से निशाना लगाता हैं इसलिए इसे दुनिया के सबसे घातक मिसाइल में से एक माना जाता है।

6. इजराइल का आयरन डोम इंटरसेप्टर सिस्टम

आयरन डोम इंटरसेप्टर सिस्टम इजराइल की सेना में सबसे खतरनाक और प्रसिद्ध हथ्यारों में से एक है इसे आर्टिलरी काउंटर रॉकेट या मोर्टार मिसाइल के नाम से भी जाना जाता हैं।

7. मर्केवा टैंक

मर्केवा टैंक इजराइल की सेना में सबसे खास टैंकों में से एक हैं। यह पूरी तरह से anti tank मिसाइल से लैश है जो दुश्मन टैंक को नस्ट करने में कोई कसर नही छोड़ता। इसे 1980 के दशक में डिजाईन किया गया था। जो काफी विकसीत हुआ। वर्तमान में इजराइल के पास इस सीरीज की MK-4 टैंक है।

8. मजबूत एजुकेशन सिस्टम

इजराइल के सभी स्कूलों की फंडिंग वहाँ के सरकार द्वारा किया जाता है। यहाँ की फ्री स्कूल में सिर्फ़ गरीब बच्चें ही पढ़ते हैं। इजराइल कम्प्यूटर शिक्षा के मामले में बहुत आगे है और घरेलू कम्प्यूटर यूज में इजराइल का स्थान दुनिया में पहला हैं।

इस देश में कूल 1137 यूनिवर्सिटी हैं और आपको पता होना चाहिए की दुनिया की सबसे सर्वश्रेष्ठ यूनिवर्सिटी में इजराइल के 6 यूनिवर्सिटी के नाम आते हैं।

यहाँ बच्चों को किताब सरकार मुहैया कराती हैं। पूरे दुनिया में सबसे ज्यादा किताब का प्रकाशन इजराइल में ही होता है।

9. इनोवेटीव फार्मींग

इजराइल एक ऐसा देश है जहाँ की ज्यादतर भूमि बंजर है और पानी की कमी की वजह से एक बड़ा हिस्सा कृषि योग्य ही नही है। लेकिन इसकी अच्छी तकनीक की वजह से हर साल अपने कृषि क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है।

पिछ्ले 25 सालों में अगर तुलना की जाय तो यहाँ कृषि क्षेत्र में 7 गुना की बढ़ोतरी हुई है। लेकिन पानी के खपत में कोई अंतर नहीं है।

इजराइल अपनी जरूरत का 93% खाद्यान खूद उत्पादन करता है। यहाँ हर 10 में से 9 घर सोलर एनर्जी का इस्तेमाल करती है।

10. इजराइल की इंटेलीजेंस एजेंसी “मोसाद”

“मोसाद” का मतलब मौत होता है। इजराइल की इंटेलीजेंस एजेंसी “मोसाद” पूरी दुनिया की सबसे तेज तर्रार खुफिया एजेंसी में आती है।

इसे इजराइल के रीढ़ के नाम से जाना जाता हैं। इसलिए तो इजराइल में आतंकी हमले न के बराबर होते हैं और बड़ी बड़ी कंपनिया बेखौफ़ रूप से यहाँ अपना बिजनेस का विस्तार करती हैं।

सूत्र बताते हैं कि अगर मोसाद के नजर में कोई आ जाता है तो वह दुनिया की किसी भी कोने में छूप जाय पकड़ा ही जाता हैं।

सन् 1979 की बात है म्यूनिख ओलंपिक में इजराइल की 11 खिलाड़ियों को आतंकियों ने मौत के घाट उतार दिया।

तब मोसाद एजेंसी ने ही इन आतंकी को सबक सिखाया और उन्हें मौत के घाट उतार बदला लिया था। आपको बता दे इस मोसाद खुफिया एजेंसी ने भारत के रॉ खुफिया एजेंसी के निर्माण में भी बहुत भूमिका निभाई हैं

यह भी पढ़े:

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here